महंगे सूट में भी बन्दर तो बन्दर ही रहता है

किसी ने कहा है- It takes more than a suit to be a gentleman. You can wear a thousand dollar suit but remember a monkey in suit is still a monkey.

निश्चित रूप से बाहर के परिवेश को बदलना आसान है इसलिए उसका बाजार हमेशा गरम रहता है। भीतर से बदलने का प्रयास वे ही करते हैं जो लम्बी दूरी तय करने जितना साहस और धैर्य रखते हैं। 100 कदम की दौड़ में तो चीता भी 90 किमी प्रति घंटे की रफ़्तार से भाग सकता है मगर जब लम्बी दूरी तय करने की बात हो तो एक मनुष्य प्रायः सभी प्राणियों को पीछे छोड़ सकता है, ऐसा एक शोधकर्ता का दावा है। यहाँ तक कि एक गर्म दिन में 26.2 मील की मेराथन में एक मनुष्य घोड़े को भी पीछे छोड़ सकता है।

एक अच्छा पहनावा निश्चित रूप से बेहतरीन प्रभाव डालने के लिए एक उपयोगी माध्यम हो सकता है मगर आंतरिक व्यक्तित्व के बेहतरीन हुए बिना यह प्रभाव दीर्घकालिक नहीं बन पाता। अपने समय, श्रम और संसाधनों का उपयोग जितना हो सके खुद को बेहतर बनाने में करें।

कुछ प्रयोग इस दृष्टि से महत्वपूर्ण बन सकते हैं, जैसे:

  • कोई नई कला, भाषा या हुनर सीखना।
  • अपने शरीर को आंतरिक रूप से स्वस्थ रखने के लिए योगासन, प्राणायाम और आहार शुद्धि का प्रयोग करना।
  • विभिन्न अवसरों पर खुद के इमोशंस को ऑब्जर्व करना।
  • अपनी एकाग्रता और जागरूकता की वृद्धि के लिए ध्यान का अभ्यास करना।
  • कुछ नया पढ़ते रहना।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: